Headset Tablet

हेडसेट टैबलेट, माइग्रेन के इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली दो दवाओं का मिश्रण है. यह माइग्रेन के लक्षणों से राहत देता है और माइग्रेन के अटैक को बदतर बनने से रोकता है. यह दवा रक्त वाहिकाओं को संकुचित करने में मदद करती है, जिससे माइग्रेन के सिरदर्द से राहत मिलती है.

हेडसेट टैबलेट को भोजन के साथ लेना चाहिए. हालांकि, इसे हर दिन एक तय समय पर लेने की सलाह दी जाती है क्योंकि इससे शरीर में दवा के समान लेवल को बनाए रखने में मदद मिलती है.. कोई खुराक न छोड़ें और बेहतर महसूस होने पर भी इलाज का पूरा कोर्स पूरा करें और अगर कोई खुराक छूट गई हो, तो याद आते ही उसे ले लें.. डॉक्टर द्वारा निर्धारित अवधि तक आपको इस दवा का सेवन जारी रखना चाहिए और अचानक इसे लेना बंद नहीं करना चाहिए.

इस दवा के इस्तेमाल से जुड़े साइड इफेक्ट में मिचली आना , सीने में जलन , सीने में दिक्कत , मुंह सूखना, कमजोरी , मांसपेशियों में जकड़न, सुस्ती , एक्‍स्‍ट्र‍िमिटीज में नंबनेस और अनियमित हार्टबीट शामिल हैं. हालांकि, ये आमतौर पर अस्थायी होते हैं और आमतौर पर अपने आप ठीक हो जाते हैं.. अगर ये कम नहीं होते हैं या आपको परेशान करते हैं, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श लें.

इलाज के शुरुआती दौर में इससे नींद आ सकती है, इसलिए जब तक आपको यह पता न चल जाए कि दवा आपको किस प्रकार से प्रभावित करती है, तब तक ड्राइविंग तथा भारी मशीनरी का संचालन न करें. यह दवा आपके मूड में बदलाव ला सकती है और आप असहज महसूस कर सकते/सकती हैं. इसलिए, व्यवहार की नियमित निगरानी महत्वपूर्ण है. गर्भवती या स्तनपान करने वाली माताओं को इस दवा को लेने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए.

अगर आप हार्ट की किसी समस्याओं से पीड़ित हैं तो अपने डॉक्टर को बताएं क्योंकि हेडसेट टैबलेट का इस्तेमाल हार्ट की कुछ बीमारियों में कोट्राइंडि‍केटिड है. इस दवा लेते समय ब्लड प्रेशर की नियमित निगरानी आवश्यक है. अगर यह दवा लेने के बाद आपको सीने या पेट में तेज दर्द, खूनी डायरिया या हाई ब्लड प्रेशर जैसी समस्या है, तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें और इस दवा को रोक दें.

Updated: 27/06/2021 — 11:49

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *