Dermiford Cream

डर्मिफोर्ड क्रीम कई दवाओं से मिलकर बना है जिसका इस्तेमाल विभिन्न प्रकार के त्वचा का संक्रमण के इलाज में किया जाता है. यह संक्रमण पैदा करने वाले माइक्रोआर्गेनिज्म के खिलाफ काम करके इन्फ्लेमेशन के लक्षणों जैसे कि लालिमा, सूजन और खुजली को कम करता है.

डर्मिफोर्ड क्रीम केवल बाहरी अंगों के लिए है और इसे डॉक्टर द्वारा दी गई सलाह के अनुसार इस्तेमाल किया जाना चाहिए. दवा की पतली परत को साफ और सूखे हाथों से त्वचा के केवल प्रभावित क्षेत्रों पर लगाया जाना चाहिए. दवा लगाने से पहले और बाद में अपने हाथों को धोएं. अगर यह आपकी आंख, नाक, मुंह या योनि में चला जाता है तो पानी से धो लें. लक्षणों में सुधार आने में कुछ सप्ताह तक का समय लग सकता है, तो अपनी दवा को नियमित रूप से लेते रहें. दवा के बेहतर असर को सुनिश्चित करने के लिए, इलाज का कोर्स पूरा किया जाना चाहिए. अगर आपकी स्थिति में सुधार नहीं होता है या अधिक खराब हो जाती है, तो आपको अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए.

आमतौर पर यह एक सुरक्षित दवा होती है, हालांकि, इससे दवा लगाने के स्थान पर जलन, इरिटेशन, खुजली और लालपन जैसी समस्याएं आ सकती हैं. ये साइड इफेक्ट आमतौर पर हल्के और आत्म-सीमित होते हैं. गंभीर साइड इफ़ेक्ट बहुत ही कम मामलों में होते हैं. अगर आपको कोई एलर्जी प्रतिक्रिया (चकत्ते, खुजली, सूजन, सांस की कमी, आदि) का अनुभव होता है आपको डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए.

इस दवा का उपयोग करने से पहले, अगर आप उसी बीमारी या अन्य बीमारियों के लिए कोई अन्य दवाएं ले रहे हैं या हाल ही में ले चुके हैं, तो अपने डॉक्टर को बताना महत्वपूर्ण है. गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इस दवा का सेवन उचित परामर्श और सावधानी के साथ करना चाहिए. अगर आपको इस दवा से ज्ञात एलर्जी है, तो आपको इस दवा का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए और इस स्थिति के बारे में डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए. इलाज के दौरान, संक्रमित त्वचा वाले अंगों को स्पर्श या स्क्रैच न करें क्योंकि इससे इन्फेक्शन और भी खराब हो सकती है या फैल सकती है.

Updated: 27/06/2021 — 10:04

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *