Aldactone Tablet

एलडेक्टोन टैबलेट एक दवा है जिसे डाईयूरेटिक (वॉटर पिल) के नाम से जाना जाता है. इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से हार्ट फेल और हाई ब्लड प्रेशर के इलाज में किया जाता है. यह कुछ अन्य स्थितियों के कारण आने वाली सूजन (इडिमा ) को कम करता है. इस दवा को शरीर में पोटैशियम की कमी स्तर का इलाज करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है (हाइपोकालेमिया).

एलडेक्टोन टैबलेट का अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए इसे हर दिन एक नियत समय पर भोजन के साथ लिया जाना चाहिए. इसे सुबह जल्दी ले लेना चाहिए ताकि आपको रात को बार-बार पेशाब करने के लिए न उठना पड़े, यदि आप अच्छा महसूस कर रहे हैं तो भी आपको यह दवा डॉक्टर के बताए अनुसार लेते रहना चाहिए. अगर आप इसे लेना बंद कर देते हैं, तो आपकी स्थिति बिगड़ सकती है. आपको किस प्रकार के और कितनी मात्रा में लिक्विड पीने चाहिए, इसके बारे में अपने डॉक्टर की सलाह का पालन करें. अगर आपका हाई ब्लड प्रेशर के लिए इलाज चल रहा है तो आप जीवनशैली में परिवर्तन करके जैसे कि नियमित रूप से व्यायाम करके तथा अपने आहार में बदलाव करके जैसे कि कम नमक वाला भोजन करके इस दवा की प्रभाविकता में बढ़ोत्तरी कर सकते हैं.

सामान्य साइड इफेक्ट में मिचली आना , उल्टी, चक्कर आना और स्तनों में सूजन या इन्हें छूने पर दर्द होना (पुरुष और महिलाओं में) आदि शामिल हैं. अगर आप इनसे परेशान हैं या स्थिति गंभीर होती जा रही है, तो अपने डॉक्टर को बताएं. उन्हें कम करने या रोकने के तरीके हो सकते हैं.. शराब पीने से कुछ साइड इफेक्ट बढ़ सकते हैं और इससे बचना चाहिए.

अगर आपको किडनी से जुड़ी कोई समस्या है या आप पेशाब करने में असमर्थ हैं, तो आपको एलडेक्टोन टैबलेट का इस्तेमाल करने में सावधानी बरतनी चाहिए. इसे लेने से पहले, अगर आपको कभी भी कोई किडनी, लिवर या हृदय रोग हो चुका हो या आप गर्भवती हैं तो अपने डॉक्टर को इसके बारे में बताएं. इसके अलावा, अपनी हेल्थकेयर टीम को अन्य सभी दवाओं के बारे में बताएं, जिन्हें आप ले रहे हैं, क्योंकि कुछ दवाएं इस दवा को प्रभावित कर सकती हैं या इससे प्रभावित हो सकती हैं. गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को यह दवा लेने से पहले, डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए. इस दवा का इस्तेमाल करते समय, आपको नमक या नमक की चीज़ों को सीमित करने की सलाह दी जा सकती है, और आपको अक्सर अपने ब्लड प्रेशर की जांच करनी चाहिए. किडनी फंक्शन (जैसे कि क्रिएटिनिन) और पोटेशियम लेवल जैसे कुछ अन्य टेस्ट आपकी प्रगति पर नज़र रखने के लिए किए जाएंगे.

Updated: 28/06/2021 — 09:39

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *