Maxtra P Syrup

मैक्सट्रापी सिरप को आमतौर पर बच्चों को नाक बहना, खांसी, छींकना, आंखों से पानी आना, गले में छाले, शरीर में दर्द और बुखार जैसे लक्षणों के इलाज के लिए दिया जाता है. ये लक्षण आमतौर पर सर्दी-जुकाम, हे बुखार (एलर्जिक राइनाइटिस) और अन्य श्वसन मार्ग की स्थितियों से जुड़े होते हैं.

अपने बच्चे को भोजन के साथ या भोजन के बिना मुंह से मैक्सट्रापी सिरप दें. अगर आपके बच्चे के पेट में परेशानी हो जाती है, तो हो सके तो इसे खाने के साथ दें. हमेशा याद रखें कि आपके बच्चे के डॉक्टर द्वारा निर्धारित की गई खुराक आपके बच्चे के लक्षणों पर निर्भर करती है, इसलिए निर्धारित खुराक, समय और तरीके का पालन करें.

मैक्सट्रापी सिरप को रोज एक निश्चित समय पर दें ताकि यह धीरे-धीरे आपके बच्चे दिनचर्या में शामिल हो जाए, जिससे आपको याद रखने में मदद मिलेगी. . हालांकि, अगर अगली खुराक का समय हो गया हो तो पिछली खुराक कभी साथ न लें.. नियमित खुराक लेने के एक सप्ताह के भीतर आपका बच्चा बेहतर महसूस करना शुरू कर सकता है.. हालांकि, आपको अपने बच्चे को सलाह दिए गए पूरे कोर्स को पूरा करने के लिए दवा देना जारी रखना चाहिए क्योंकि अचानक इसे रोकने से आपके बच्चे की स्थिति और भी खराब हो सकती है.

यह दवा लेते समय आपके बच्चे को कुछ मामूली और अस्थायी साइड इफेक्ट महसूस हो सकते हैं जैसे उल्टी, डायरिया (दस्त), मिचली आना , चक्कर आना, रैश , और सिर दर्द. आपके बच्चे के शरीर को इस दवा की आदत लगने के बाद यह साइड इफेक्ट कम हो जाएंगे. अगर ये साइड इफेक्ट आपके बच्चे के लिए, बने रहते हैं या कष्टप्रद होते हैं, तो बिना किसी देरी के बच्चे के डॉक्टर से परामर्श करें.

अपने बच्चे के डॉक्टर को अपने बच्चे का पूरा मेडिकल इतिहास बताएं, जिसमें वर्तमान में चल रही दवा या किसी एलर्जी का इतिहास, हृदय संबंधी समस्या, रक्त संबंधी विकार, जन्म विकार, एयरवे अवरोध, फेफड़ों की असंगति, त्वचा संबंधी विकार, लिवर की खराबी और किडनी की खराबी आदि शामिल हैं. यह जानकारी खुराक में बदलाव और आपके बच्चे के समग्र इलाज की योजना बनाने के लिए महत्वपूर्ण है.

Updated: 28/06/2021 — 07:01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *